Saturday, June 14, 2008

शिव की अपनी आवाज़ में कुछ कविताएं

आइए आपको सुनाते हैं शिव कुमार बटालवी की ख़ुद की आवाज़ में कुछ कविताएं
१ सिखर दुपहर सिर ते...
२ की पुछदे ओ हाल फ़क़ीरां दा...
३ इक कुड़ी जिदा नां मोहब्बत...
http://www.apnaorg.com/audio/shiv/